देखिए दीपक पूनिया का देसी स्टाइल – लॉकडाउन में एक बार फिर से जीने को मिली गांव वाली ज़िंदगी

By   - 26/06/2020

Wrestling News: वर्ल्ड चैंपियनशिप सिल्वर मेडलिस्ट दीपक पूनिया को अपने गांव छारा जिला झज्जर, हरियाणा के पुराने दिनों को इस लॉकडाउन में एक बार फिर से जीने का मौका मिला है जिसे अब वो खूब एन्जॉय कर रहे है कभी वो अपने दोस्तों के साथ खेतों में नज़र आते है कभी अपने सर पर साफा बांध कर खुद को ‘दिल से देसी’ कहते है।

पूनिया ने अपने इंस्टाग्रम अकाउंट पर अपना खेतों का एक वीडियो शेयर किया जिसमे वो अपने दोस्तों के साथ रनिंग करते नज़र आ रहे है उसके बाद उन्होंने एक फोटो शेयर की जिसमे वो सर पर साफा बांध हुए अपने आप को ‘दिल से देसी’ बताते है।

सुबह के ट्रेनिंग सेशन को पूरा करने के बाद, दीपक कहते हैं कि शाम की ट्रेनिंग से पहले तैयार होने के लिए वो आराम करते हैं। “शाम का सेशन बहुत इंटेंस होता है। इसमें मैं वेट ट्रेनिंग और रनिंग करता हूं। मैं शाम 4 बजे शुरू करता और यह सेशन फिर शाम 7 बजे खत्म होता है” और फिर रात को खाना खाने के बाद गांव के दोस्तों के साथ थोड़ा वाक पर निकल जाते है।

Also Read: रेसलर दिव्या काकरान की हिमालय के पहाड़ों में देसी पावर ट्रेनिंग: देखें वीडियो

“शाम की ट्रेनिंग के बाद बाद, मैं अपना रात का खाना खाने के लिए घर लौटता हूं, और फिर दोस्तों के साथ टहलने के लिए एक छोटी सैर करता हूं” दीपक ने बताया।

भारत को 86 किलोग्राम वर्ग में ओलंपिक कोटा दिलाने वाले पहलवान दीपक पूनिया लॉकडाउन के चलते अपने गांव हरियाणा में है और उन्होंने अपने गांव में गुरु वीरेंदर आर्य समाज अखाड़े को पिछले 3 महीने से अपना ओलंपिक ट्रेनिंग सेंटर बना रखा है।

“3 महीने हो चुके है जबसे लॉकडाउन हुआ में गांव आ गया था। यहाँ गुरु वीरेंदर आर्य समाज अखाड़े में प्रैक्टिस कर रहा हूँ। जब से यहाँ हूँ मिट्टी और मैट दोनों पर प्रैक्टिस हो जाती है बाकि अपनी फिटनेस ट्रेनिंग चलती रहती है” दीपक ने रेसलिंगटीवी को बताया।

पुनिया ने बताया प्रैक्टिस बढ़िया चल रही है एक ही दिक्कत है अपने वेट के पार्टनर का ना होना। लेकिन फिटनेस ट्रेनिंग सेशन के जरिये उनको अपना वेट बैलेंस रखने में मदद मिलती है । “यहाँ प्रैक्टिस तो चल रही है लेकिन अच्छे पार्टनर ना होने से दिक्कत तो होती है। लेकिन फिटनेस ट्रेनिंग सेशन से मुझे मेरे वेट को बैलेंस रखने में मदद मिलती है” ।

भारत को ओलंपिक कोटा दिलाने वाले पहलवान मानते है ज़्यादा कम्पीटीशन ना खेलने से खिलाड़ी की फॉर्म पर इसका सीधा असर पड़ता है चाहे आप कितने भी प्रैक्टिस कर ले। “हम प्रैक्टिस में कोई कमी नहीं छोड़ रहे है लेकिन जब तक हम ज्यादा से ज्यादा कम्पीटीशन नहीं खेलेंगे तो पता नहीं चलेगा हम कितने अच्छा कर कितना बुरा कर रहे है । इसका सीधा असर खिलाड़ी की फॉर्म पर पड़ेगा” ।

दीपक ओलंपिक के बारे में ज्यादा सोच नहीं रहे उनका मानना है बस वो अपनी अच्छी प्रैक्टिस और कमियों पर काम कर सकते है । “ओलंपिक के बारे में अभी ज्यादा नहीं सोच रहा । मेरा पूरा ध्यान अपनी तरफ से अच्छी प्रैक्टिस करना है साथ ही मेरी जो कमिया है उनको सुधारना”।

Wrestling (Kushti) fans can catch Live Streaming, Highlights, News, Videos, Photos, Results and Rankings on WrestlingTV

Leave a Comment